गुणिजन सभा की दूसरी सालगिरह


22 जून, 2017. गुणिजन सभा आयत 24. मौका था गुणिजन सभा की दूसरी सालगिरह का. गुणिजन सभा का आयोजन दिल्ली में उस्ताद इमामुद्दीन खान डागर इंडियन म्युज़िक आर्ट एंड कल्चर सोसाइटी द्वारा किया जाता है.
दूसरी सालगिरह के इस सराहनीय सभा का आरम्भ किरण घराना के श्री अमजद अली खान साहब की खयाल गायकी से हुआ. साँझ की बेला से जुड़े हुए राग पूरिया कल्याण के गायन ने श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया| प्रख्यात सुरबहार वादक पंडित पुष्पराज कोष्टी ने अतिशांत राग मेघ प्रस्तुत किया. सभा का उत्कर्ष प्रख्यात ध्रुपद गायक पद्मश्री उस्ताद वासिफुद्दीन डागर के मियां की मल्हार से हुआ. सारी प्रस्तुतियां अत्यंत सराहनीय रहीं|
गुणिजन सभा शबाना डागर की एक अपूर्व संकल्पना है जहाँ श्रोता कलाकार से सीधे बातचीत कर सकते हैं और उनकी कला को समझ सकते हैं| शबाना जी ध्रुपद के प्रख्यात डागर घराने की बीसवीं पीढ़ी से हैं| गुणिजन सभा की सफलता के पीछे शबाना डागर जी की अथक मेहनत है| हम उनकी और गुणिजन सभा की सफलता के लिए शुभकामनाएं देते हैं|

Please follow and like us:

Leave a Reply