परवीन अर्शी को मिला सम्मान

http://traveltomarketing.com/iran.html दिल्ली.राजस्थान की सामाजिक संस्था नृत्यांशी कला सोसायटी द्वारा महिला दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय व लोकप्रिय 21 महिलाओं को ‘आइडियल वुमनिया नेशनल अवार्ड 2018’ से सम्मानित किया गया. जयपुर के जवाहर कला केंद्र में आयोजित समारोह में नेशनल जेएफ़सी आर्गेनाईजेशन की अध्यक्ष पूनम छाबड़ा ने मध्य प्रदेश मूल की दिल्ली निवासी वरिष्ठ महिला पत्रकार परवीन अर्शी को ‘आइडियल वुमनिया नेशनल अवार्ड 2018’ से सम्मानित किया.

परवीन अर्शी टीवी एंकर रिपोर्टर और शगुफ्ता टाइम्स डॉट कॉम न्यूज़ पोर्टल की एडिटर हैं तथा हिंदी की लोकप्रिय वेबसाइट हिंदी वार्ता डॉट कॉम से भी सम्बद्ध हैं.नृत्यांशी कला सोसायटी एनजीओ (जयपुर) की चेयर पर्सन व सचिव प्रीति श्रीवास्तव ने बताया कि संस्था 2010 से हर साल सामजिक,चिकित्सा,शैक्षणिक,राजनीतिक,संगीत और पत्रकारिता में सक्रिय और समर्पित महिलाओं को उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए ‘आइडियल वुमनिया नेशनल अवार्ड ‘ दिया जाता है.

Please follow and like us:

दलित-मराठा हिंसा: संभाजी भिड़े को गिरफ्तार किया जाए- प्रकाश अंबेडकर

tastylia review मिलिंद एकबोटे, संभा जी भिड़े, प्रकाश आंबेडकर

buy generic Misoprostol online मुंबई. महाराष्ट्र के पुणे में हिंसा की आग अभी ठंडी नहीं हुई है. दलित समाज में तेज़ी से दो हिन्दू नेता संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे को गिरफ्तार करने की मांग तेज़ी से बढ़ती जा रही है. संभाजी भिडे इलाके में हिंदुत्व का बहुत बड़ा चेहरा है और पीएम मोदी के क़रीबी भी हैं. वहीं दूसरे आरोपी मिलिंद एकबोटे हिंदू एकता मोर्चा नाम का संगठन चलाते हैं और शिव सेना- भाजपा से गहरे रिश्ते हैं.महाराष्ट्र बंद बुलाने वाले दलित नेता प्रकाश अंबेडकर ने एक बार फिर मुख्यमंत्री देंवेंद्र फडणवीस से अपील की है कि जल्द से जल्द संभाजी भिड़े को गिरफ्तार किया जाए. प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि दलितों का गुस्सा तबतक शांत नहीं होगा, जबतक संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोते को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा.
मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि सरकार इस बात पर राजी हुई है कि वह प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कड़े एक्शन नहीं लेगी. सरकार हमारी मांगों को मानने के लिए तैयार हुई है. बंद के दौरान हम अपने प्रदर्शनकारियों का गुस्सा शांत रख पाए, लेकिन ऐसा ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाएगा.भीमा-कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर भड़की हिंसा का असर समूचे महाराष्ट्र पर पड़ा है. मुंबई पुलिस ने कुल 25 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है, इसके अलावा कुल 300 लोगों को हिरासत में लिया गया है. मुंबई पुलिस ने दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और छात्र नेता उमर खालिद को नोटिस जारी किया है, उनके सार्वजनिक भाषण पर रोक लगाई गई है.
कौन हैं संभाजी भिड़े?
संभाजी भिड़े को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परम आदरणीय और गुरुजी कहा था. इनपर हिंसा भड़काने के आरोप में केस दर्ज हुआ है. माथे पर लंबा टीका और मराठी टोपी और तीखा भाषण इनकी पहचान है. संभाजी भिड़े की सख्शियत ऐसी है कि उनके एक हुक्म पर लाखों युवा इकट्ठा हो जाते हैं.प्रधानमंत्री मोदी भी संभाजी भिड़े का बहुत आदर करते हैं और उनके संगठन शिव प्रतिष्ठान के कार्यक्रमों में जा चुके हैं. इसी बात से आप संभाजी की हैसियत का अंदाजा लगा सकते हैं.संभाजी भिड़े महाराष्ट्र के जाने-माने नेता हैं. वह महाराष्ट्र के सांगली जिले के रहने वाले हैं. भिडे कोल्हापुर में शिव प्रतिष्ठान नाम का संगठन चलाते हैं और मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी के अनुयायी हैं. इन्होंने अटॉमिक साइंस में एमएससी की है और पुणे के फर्ग्युसन कॉलेज में प्रोफेसर भी रह चुके हैं. भिड़े की खास बात ये है कि वो हमेशा नंगे पैर चलते हैं.भिड़े ने आज तक अपना कोई मकान नहीं बनाया है और ना ही कभी कार से चलते हैं. इन्हीं खासियतों की वजह से संभाजी के लाखों की संख्या में फॉलोवर हैं और उनके एक इशारे पर चार से पांच लाख युवा एक जगह इकट्ठा हो जाते हैं. पुलिस अब तक 85 साल के संभाजी को गिरफ्तार करने में नाकाम रही है.

कौन हैं मिलिंद एकबोटे?
मिलिंद एकबोटे पर भी केस दर्ज हुआ है. आरोप है कि मिलिंद एकबोटे के कार्यकर्ताओं ने भीमाकोरे गांव जा रहे दलितों से हिंसा की. आपको बता दें कि मिलिंद एकबोटे हिंदू एकता मोर्चा नाम का संगठन चलाते हैं. 56 साल के मिलिंद एकबोटे गोरक्षा अभियान चलाने के लिए जाने जाते हैं. बीजेपी से 1997 से 2002 तक पुणे के पार्षद रह चुके हैं. इनका पूरा परिवार आएसएस से जुड़ा हुआ है.साल 2014 में मिलिंद एकबोटे ने शिवसेना के टिकट पर विधायक का चुनाव लड़ा था लेकिन हार गए थे. एकबोटे पर दंगा फैलाने, धमकी देने समेत 12 आपराधिक मामले दर्ज हैं. पांच मामलों में मिलिंद एकबोटे को दोषी करार दिया जा चुका है. पुलिस पर एकबोटे और संभाजी भिड़े दोनों को गिरफ्तार करने का दबाव है लेकिन अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं.

Please follow and like us:

ऑस्ट्रेलिया में हिंदी को शौहरत दिला रहे हैं …पॉपुलर मेरठी

दिल्ली. हिंदुस्तान के चहेते शायर पॉपुलर मेरठी इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में हिंदी-उर्दू का परचम लहरा रहे हैं.२५ अक्टूबर से ३ नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया के सिडनी,केनबरा और मेलबोर्न के मुशायरों में शिरकत करेंगे.पॉपुलर मेरठी के साथ इस दौरे में सुप्रसिद्ध फ़िल्मी गीतकार-शायर एएम तुराज़ भी हैं.तुराज़ ने हाल ही में फिल्म ‘पद्मावती’ के सभी गीत लिखे हैं.

विदेशों में भारतीय साहित्य के उत्थान के लिए सक्रिय संस्था एमएसके इवेंट ने मुशायरों का आयोजन किया है. फोन पर शगुफ्ता टाइम्स को पॉपुलर मेरठी ने बताया कि कवि दरबार के नाम से मशहूर मुशायरों को यहाँ काफी शौहरत मिली हुई है.तुराज़ और मैंने अभी तक जो मुशायरे पढ़े हैं उनमें भारत की ही तरह हमें खूब दाद मिल रही है.इससे हमारे मुल्क हिंदुस्तान का नाम रौशन हो रहा है.

पॉपुलर मेरठी मुख़्तसर परिचय

वैसे तो मेरठ की सरजमीं कई बड़े शायरों और कवियों से सरसब्ज रही है। लेकिन पॉपुलर मेरठी ने शहर मेरठ को एक नई पहचान दी है. वे चालीस साल से मुशायरे और कवि सम्मेलन में कलाम पेश कर रहे हैं .उनका पूरा नाम सैय्यद एजाजउद्दीन शाह है. वे अमेरिका, पाकिस्तान, सऊदी अरब, दुबई, कतर, दोहा, मॉरीशस, ऑस्ट्रेलिया, कुवैत, यमन व रूस आदि देशों में कलाम पेश कर चुके हैं. विदेशों में 70 से अधिक संस्थाएं सम्मान कर चुकी हैं और उन्हें ‘मेरठ-रत्न’ भी मिला.

Please follow and like us:

योगी ने आधे घंटे किये ताज के दीदार, ताज के बाहर सफाई अभियान चलाया

आगरा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिन के आगरा के दौरे पर हैं। इस दौरे में भी नगला पेमा और कछपुरा होते हुए ताजमहल के पश्चिमी गेट पर पहुंचे। वहां उन्होंने पार्किंग एरिया में अपने कार्यकर्ताओं के माध्यम से झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश दिया। इस दौरान झाड़ू से उन्होंने सफाई की। इसके बाद आधे घंटे तक ताज महल के दीदार किये.जब वे विवादों के बीच ताज का दीदार कर रहे थे, दूसरी ओर भाजपा समर्थक भारत माता के जय के नारे लगा रहे थे।

ताजमहल के पश्चिमी दरवाजे पर सफाई अभियान के बाद सभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वह आगरा के विकास में कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोडे़ंगे। ताजमहल पर चल रही बयानबाजी को को नज़र अंदाज़ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तन्मयता के साथ ताज महल की खूबसूरती को निहारते रहे.

उन्होंने कहा कि जब तक वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, जब तक वह आगरा के पर्यटन विकास में कोई कसर नहीं छोडे़गे। सीएम योगी ताजमहल में सफाई अभियान के बाद शाहजहां पार्क का निरिक्षण भी किया.पिछले दिनों ताजमहल को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद सीएम योगी ने ऐलान किया था कि वह ताजमहल का दौरा करेंगे.

उधर योगी सरकार के खिलाफ लगातार तंज भरे ट्वीट करने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने इस बार भी योगी के ताजमहल दौरे से जुड़ा एक ट्वीट किया है.हालांकि ट्वीट में अखिलेश यादव ने किसी का नाम नहीं लिया है. लेकिन इसका इशारा साफ समझा जा सकता है. अखिलेश ने लिखा है कि ये है जमुना किनारे खड़े ताज का कहना, ये है प्यार का तीर्थ, यहां भी आते रहना.

Please follow and like us:

एडिशनल एसपी शशांक गर्ग के नेतृत्व में नशे के खिलाफ हुई बड़ी कार्रवाई

»200 सौ बोरे महुआ, हजारों लीटर कच्ची शराब बरामद
»कच्ची शराब माफिया में हड़कंप
»घरों में लगा रखे गांजे के पौधे भी जब्त

भोपाल: होशंगाबाद के पिपरिया और सोहागपुर में एडिशनल एसपी शशांक गर्ग के नेतृत्व में प्रशासन,पुलिस और आबकारी की संयुक्त एक बड़ी कार्रवाई की गई. अवैध कच्ची शराब के अनेक अड्डों पर छापा मारी की गई. जिसमें 200 सौ बोरे महुआ हजारों लीटर कच्ची शराब के साथ गांजे के पौधे बरामद किये गए।श्री गर्ग की इस बड़ी कार्रवाई को लेकर कच्ची शराब माफिया में हड़कंप मचा हुआ है.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि एडिशनल एसपी शशांक गर्ग अपने अथक प्रयसों से पूरे क्षेत्र को नशा मुक्त बनाना चाहते हैं ताकि क्षेत्र के विकास को गति मिले और लोग सकारत्मक सोचने लगें. हाल ही में पिपरिया के कुचवांदिया मोहल्ला टावर मोहल्ला ईरानी डेरा सहित कई बड़े अड्डों पर की गई छापे मारी की कार्रवाई में पिपरिया से 21 आरोपियों से 5 लाख 15 हजार रुपए की 9 हजार 650 किलो, 279 लीटर कच्ची शराब जब्त की गई.इस बड़ी कार्रवाई में पिपरिया से शराब के साथ गांजा भी बरामद किया गया. इसके अलावा घरों में लगा रखे गांजे के पौधे भी जब्त किये गए.सोहागपुर में 5 मामलों में 1 लाख 50 हजार रुपए कीमत की 3 हजार किलो लाहन और शराब जब्त को भी बरामद की गई.

Please follow and like us:

कश्मीर में फिर लम्बे कर्फ्यू की शुरुआत

50 जगहों पर हिंसा, 7 इलाकों में कर्फ्यू

श्रीनगर. साल भर पहले मारे गए दहशतगर बुरहान वाणी के साथी और आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर सब्जार अहमद भट के मारे जाने के बाद कश्मीर में 50 से ज्यादा जगहों पर हिंसा भड़क गई है। इसमें एक मौत और 60 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए हैं। एहतियात के तौर पर श्रीनगर के 7 थाना एरिया में कर्फ्यू लगा दिया गया है। स्कूल-कॉलेज सोमवार तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। ट्रेन और इंटरनेट सर्विसेज भी सस्पेंड कर दी गई हैं। उल्लेखनीय है कि शनिवार को सब्जार को एक एनकाउंटर में मार दिया था। इसके बाद से गुस्साए लोगों ने आर्मी पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। इसके पहले बुरहान के मारे जाने के बाद 90 दिनों तक हुई थी हिंसा,उस दौरान 90 सिविलियंस की मौत हुई थी, 15 हजार से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। हिंसा में 2 सिक्युरिटी पर्सनल भी शहीद हुए थे और 4000 से ज्यादा घायल हुए थे।.आतंकी सब्जार को पुलवामा जिले के त्राल में ढेर किया गया। वह बुरहान वानी का उत्तराधिकारी था। बुरहान को सिक्युरिटी फोर्सेस ने पिछले साल 8 जुलाई को मार गिराया था।
सब्जार के मारे जाने के बाद एहतियात के तौर पर पूरे कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सर्विसेज पर भी रोक लगा दी गई है।  हालांकि बीएसएनएल की ब्रॉडबैंड सर्विस नॉर्मल तरीके से चालू है। किसी तरह की अफवाहें न फैलें, इसलिए ये कदम उठाया गया है। इससे पहले राज्य सरकार ने घाटी में 22 सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर बैन लगा दिया था, जो करीब एक महीने तक जारी रहा था। हालांकि हाल ही में बैन हटा दिया गया था।

Please follow and like us:

दिल्ली यूनिवर्सिटी में आईएसआईएस के नारे


दिल्ली विश्वविद्यालय कैंपस की दीवारों पर दुनिया के सबसे कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस के समर्थन में नारे लिखे गए हैं। इस बात को लेकर अखिल भारती विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इस संबंध में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।
छात्रों का दावा है कि उन्होंने कैंपस की दीवारों पर कुछ ऐसे नारे लिखे देखे हैं जो आतंकी संगठन आईएस के समर्थन में लिखे गए हैं। छात्र संघ अध्यक्ष अंकित ने दावा किया है कि दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में पढ़ने वाले छात्रों ने उनको बताया कि कॉमर्स डिपार्टमेंट की दीवार पर कुछ आपत्तिजनक नारा लिखा हुआ है। इस पर वह फौरन वहां गए, जहां उनको दीवार पर I SYN ISIS लिखा मिला।एबीवीपी ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। शिकायत देने के बाद इन नारों को पेंट कर छिपाने का आरोप भी लगाया गया है। उन्होंने राष्ट्र विरोधी कार्य करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। फिलहाल पुलिस अधिकारियों ने इस मामले की जांच करने की बात कह रही है।

Please follow and like us:

तेलंगाना: सर्वे में भाजपा को मिली 0 सीट

मोदी फैक्टर फ्लॉप 

हैदराबाद। 2019 में तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को एक भी सीट नहीं मिलेगी, वहीं कांग्रेस को मात्र दो सीटें मिलेंगी। उक्त सर्वे तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की तरफ से कराया गया है.टीआरएस ने वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में 63 सीटें जीती थीं। कांग्रेस 26, जबकि भाजपा ने पांच सीटें जीती थीं। यह सर्वे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के राज्य के तीन दिवसीय दौरे के मद्देनजर आया है, जिस दौरान उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा था कि साल 2019 में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रदेश में भाजपा सत्ता में आएगी।
सर्वे में दावा किया गया है कि अभी चुनाव हुए तो सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) 119 सीटों वाली विधानसभा में 106 सीटों पर जीत दर्ज करेगी। सर्वे के नतीजे की घोषणा शनिवार को टीआरएस सांसदों तथा विधायकों की एक बैठक के दौरान की गई।केसीआर के सर्वे के मुताबिक राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव में मोदी फैक्टर का कोई खास प्रभाव नहीं पड़ सकता है। यह भी दावा किया गया कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) छह सीटें जीत सकती है, जबकि साल 2014 में उसने सात सीटें जीती थीं।

Please follow and like us:

शाह ने दोनों शहज़ादों पर बोला हमला

अमित शाह ने राहुल-अखिलेश को यूपी को बर्बाद करने वाला बताया

मेरठ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से एक दिन पहले मेरठ में पदयात्रा करने पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस-सपा गठबंधन पर निशाना साधते हुए राहुल-अखिलेश की जुगलबंदी को सूबे के लिए छल बताया। कहा कि दोनों अवसरवादी शहजादे प्रदेश को बर्बाद कर देंगे। पश्चिम में बेंच के मसले पर कोई ठोस आश्र्वासन उन्होंने नहीं दिया।
शुक्रवार को मेरठ शहर में पैदल मार्च करने पहुंचे शाह ने दिल्ली गेट चौराहे पर नुक्कड़ सभा में कानून व्यवस्था के बहाने सपा पर चौतरफा हमला बोला। कहा कि गुरुवार को ब्रह्मापुरी में व्यापारी अभिषेक की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई, पुलिस मूक बनी रही। अखिलेश और राहुल को जवाब देना होगा। सूबे में रोजाना 24 महिलाओं से दुष्कर्म, 21 दुष्कर्म की कोशिश एवं 13 हत्याएं होती हैं। दुष्कर्म की वारदातों में 161 फीसद का इजाफा हुआ है। 70 फीसद घटनाएं तो मंत्रियों के इलाकों में हुई हैं। साफ है कि अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण है।

अमित शाह ने राहुल गांधी और अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा कि एक ने केंद्र को, जबकि दूसरे ने सूबे को लूटा। पश्चिमी उप्र की नब्ज को टटोलते हुए कहा कि भाजपा सत्ता में आई तो यांत्रिक कत्लखानों पर पाबंदी लगेगी। छेड़छाड़ की घटनाओं पर कहा कि एंटी रोमियो सेल बनेगा। गन्ना किसानों को 120 दिन के भीतर भुगतान मिलेगा। हालांकि, संबोधन के दौरान वह मेरठ के स्थान पर लखनऊ भी बोल गए।

पदयात्रा निरस्त कर किया रोड शो

निर्धारित समय दस बजे से करीब दो घंटे देर से दिल्ली गेट चौराहा पहुंचे शाह का भाजपाइयों ने जोरदार स्वागत किया। गुरुवार को ब्रह्मापुरी मोहल्ले में व्यापारी की हत्या पर संवेदना जताते हुए उन्होंने पदयात्रा निरस्त कर दी। बाद में उनका रोड शो हुआ।

याद दिलाई सर्जिकल स्ट्राइक

खुर्जा के पॉलीटेक्निक मैदान में शुक्रवार शाम जनसभा में भी अमित शाह ने कांग्रेस-सपा गठजोड़ पर निशाना साधा। कैराना के पलायन पर सवाल उठाया। कहा कि अगर उप्र में सरकार बनी तो किसी भी स्थान से होने वाले पलायन के लिए वहां के डीएम को जिम्मेदार माना जाएगा। पाकिस्तान की गोली के बदले हम गोला दाग रहे, कहते हुए उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक की भी याद दिलाई।

Please follow and like us:

गठबंधन में अभी से दिखने लगी गांठ: लखनऊ की एक सीट से सपा और कांग्रेस के दो उम्मीदवार

यूपी में सपा 298 और कांग्रेस 105 सीटों पर एक साथ लड़ेगी


लखनऊ . एक तरफ जहां सपा-कांग्रेस गठबंधन के तहत अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने एक साथ रोडशो करके अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को स्पष्ट कर दिया है कि अब एक साथ दोनों पार्टियां गठबंधन के बाद चुनाव लड़ने जा रही हैं. वहीं अभी कुछ सीटों पर दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के दिल नहीं मिल पा रहे और एक-दूसरे के सामने दिखाई दे रहे हैं. अमेठी और रायबरेली की सीटों पर तो अभी दोनों पक्षों के बीच गतिरोध बरकरार ही है, उसी बीच ताजा मामला लखनऊ सेंट्रल से जुड़ा है.

सपा के रविदास मेहरोत्रा और कांग्रेस के मारुफ खान आमने सामने

दरअसल लखनऊ सेंट्रल से सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा और कांग्रेस नेता मारुफ खान ने चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल किया है. इस मामले में इन दोनों ही नेताओं का कहना है कि वरिष्‍ठ नेताओं के कहने पर उन्‍होंने ऐसा किया है.इस संबंध में रविदास मेहरोत्रा का कहना है कि अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने उनके लिए वोट मांगे हैं. लिहाजा वही चुनाव लड़ेंगे. मारुफ को अपना नामांकन वापस लेना होगा. वहीं मारुफ का कहना है कि राज बब्‍बर और गुलाम नबी आजाद के कहने पर उन्होंने नामांकन भरा है.

यूपी की कुल 403 सीटों में से सपा 298 और कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

अमेठी और रायबरेली की 10 विधानसभा सीटों पर दोनों ही पक्षों के बीच गतिरोध बरकरार है.

पिछली बार २०१२ में आठ सीटें सपा और दो सीटें कांग्रेस ने जीती थीं.

सपा अपनी जीती हुई सीटों पर ही प्रत्‍याशी खड़ा करना चाहती है जबकि कांग्रेस इनमें से आधी सीटें मांग रही है.

Please follow and like us: