पंजाब विधानसभा चुनाव: पीएम मोदी बोले- कांग्रेस तो एक डूबती नाव है

चंडीगढ़.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब के जालंधर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर बरसे और उसे डूब चुकी नाव करार दिया. उन्होंने राज्य के लोगों से उन्हें जवाब देने को कहा, जिन्होंने पंजाब के युवाओं को देश व दुनिया में बदनाम किया.
पीएम मोदी ने कहा, ‘सिर्फ सत्ता की राजनीति करने के कारण कांग्रेस पार्टी खुद को बचाने के लिए आज चुनाव में इस हाल से गुजर रही है, यह नाव डूब चुकी है, जिस नाव में कोई नहीं बचा, क्या ऐसी डूबने वाली नाव पंजाब को पार लगा सकती है? कांग्रेस डूबी हुई नाव है, उससे कुछ होने वाला नहीं.’

विपक्ष पर बरसे पीएम मोदी
उन्होंने कहा, ‘राजनीति अपनी जगह पर है, लेकिन जिन्होंने देश-दुनिया में पंजाब के वीरों की छवि खराब करने की कोशिश की, उसका पंजाब के लोगों को जवाब देना है’. प्रधानमंत्री की मानें तो राज्य के भाग्य को एक नई ऊर्जा व नई ताकत देने के लिए पंजाब चुनाव मैदान में खड़ा है और यहां की जनता बादल को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहती है.
दल-बदलुओं पर पीएम का प्रहार
नवजोत सिंह सिद्धू का नाम लिए बगैर पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोगों के लिए दल बदलना एक उत्सव हो गया है. बादल साहेब ने अपनी जिंदगी में ना कभी दल बदला और ना ही कभी दिल बदला.

पंजाब में यूपी गठबंधन का जिक्र
प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर सीधा निशाना साधा और मार्क्‍सवादी कम्युस्टि पार्टी (माकपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन को लेकर उसे आड़े हाथों लिया. पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस बड़ी कमाल की पार्टी है, उसने वाम दलों से समझौता कर लिया, जिससे वह 50 साल से राजनीतिक लड़ाई लड़ती रही, वास्तव में उसने सत्ता सुख के लिए ऐसा किया.’कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कई दिनों तक की गई खाट सभा के संदर्भ में मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में महीनों तक गांव-गांव में सपा के खिलाफ बोला, लेकिन जब देखा कि जनता उसे स्वीकार नहीं कर रही है तो वह सपा के साथ हो गई.’
कांग्रेस अब बीती हुई बात: पीएम
उन्होंने कहा, ‘प्रकाश सिंह बादल की तपस्या ऐसी है कि पंजाब में फिर उनकी सरकार बनने जा रही है. पंजाब इस बार एक नया इतिहास रचेगा, अब पंजाब तीसरी बार बादल साहब को सीएम बनाएगा. कांग्रेस अब बीती हुई बात है और वो सत्ता के भूख से कांग्रेस बौखलाई हुई है’.
किसानों के कर्ज माफी का जिक्र
पंजाब के हक का पानी जैसे भी हो पाकिस्तान से लेकर आएंगे. सभी समस्याओं का समाधान विकास में है. जब विकास होगा तभी देश आगे बढ़ेगा. एनडीए सरकार ने किसानों को मदद करने के लिए उनका कर्ज माफ कर दिया. पीएम ने कहा कि अगर राजनीति करनी है तो विकास की करो, विनाश की राजनीति तो देश ने 70 साल देखी है.
औआरऔपी का भी किया ज़िक्र
अपनी सरकार की तारीफ में पीएम ने कहा, ‘फौज के सेवानिवृत्त लोग चालीस साल से औआरऔपी के लिए लड़ाई लड़ रहे थे, हर चुनाव में कांग्रेस वाले उनसे झूठे वादे करते थे, दिल्ली में सरकार आते ही हमने औआरऔपी  का मसला सुलझा दिया.’ इस देश से भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, दिल्ली में ऐसी सरकार आई है जो भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है
चार फरवरी को होगा मतदान
पंजाब विधानसभा की कुल 117 सीटों के लिए 4 फरवरी को मतदान होंगे. पंजाब में सत्तारूढ़ गठबंधन को एंटी इनकम्बेंसी का सामना करना पड़ा रहा है और राज्य की राजनीति की नई सनसनी आप से भी उसे कड़ी चुनौती मिल रही है.

Please follow and like us:

बनारस में भाजपा कार्यकर्ताओं ने केशव मौर्या मुर्दाबाद के नारे लगाए

वाराणसी.यहां काशी क्षेत्र के 14 जिलों की मीटिंग लेने पहुंचे उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या का कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। बीजेपी के टि‍कट बंटवारे कोलेकर नाराज कार्यकर्ताओं ने मौर्या के सामने ही मुर्दाबाद और वापस
जाओ के नारे तक लगाए। यही नहीं नरेंद्र मोदी के जनसंपर्क ऑफि‍स में भी नारे लगाकर विरोध किया। कार्यकर्ताओं की
इस हरकत पर मौर्या ने मंच से ही कहा, 2017 का चुनाव जीतना है। संयम
नहीं रखेंगे तो 2019 का चुनाव नरेंद्र मोदी को जीता पाना मुश्किल होगा।

मौर्या का मुर्दाबाद से स्वागत 
पूर्वांचल के बीजे पी कार्यकर्ताओं  के साथ मीटिंग लेने जैसे ही  केशव प्रसाद मौर्या और वरिष्‍ठ नेता ओम माथुर पहुंचे वैसे ही कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत मुर्दाबाद के नारों से साथ किया। टिकट बंटवारे को लेकर मुख्य रूप से वाराणसी के कैंट, रोहनिया, जौनपुर के सदर, जौनपुर के ही बदलापुर और मिर्जापुर के मड़िआऊ विधानसभा को लेकर था। विरोध होता देख केशव मौर्या ने बैठक से बाहर भी जाने की गुजारिश कर दी।

Please follow and like us:

कश्मीर हिमस्खलन: गुरेज में 4 और जवानों के शव बरामद, 15 फौजी समेत 21 की मौत

श्रीनगर.कश्मीर के गुरेज सेक्टर में बुधवार को हुई हिमस्खलन की दो घटनाओं में शहीद होने वाले जवानों का आंकड़ा 15 हो गया है. गुरुवार को 4 और शवों को बरामद किया गया है जिसके बाद रेसक्यू ऑपरेशन खत्म हो गया है. शहीद होने वालों में 1 मेजर और 14 जवान शामिल हैं. इसके अलावा 6 नागरिकों की भी राज्य में हिमस्खलन और बर्फीले तूफान के कारण मौत हो गई है. कुल आंकड़ा 21 तक पहुंच गया है. गौरतलब है कि घाटी में बेहद खराब मौसम और बर्फबारी से हालात खराब है. जगह-जगह बर्फीले तूफान या हिमस्खलन का सिल‍सिला जारी है.
बुधवार सीमा के पास गुरेज सेक्टर में हुई हिमस्खलन की घटना में कई जवान दब गए थे. इस घटना में एक जेसीओ सहित छह जवानों को बचा लिया गया है. इसी इलाके में कल हुई हिमस्खलन की एक और घटना में सेना का एक निगरानी वाहन लापता हो गया था.

एक दिन पहले ही गांदरबल जिले के सोनमर्ग इलाके में स्थित सेना के एक शि‍विर में हिमस्खलन से एक मेजर की मौत हो गई थी. दूसरी तरफ, कुपवाड़ा जिले में स्थित तुलेल में बर्फीला तूफान आने से चार लोगों के उसके नीचे दबकर मर गए थे. गौरतलब है कि कश्मीर में भारी बर्फबारी हो रही है और मौसम बेहद खराब हो गया है. मंगलवार शाम को ऐसे बर्फीले तूफान आने की चेतावनी पहले ही जारी की जा चुकी थी. बर्फीले तूफान से प्रभावित पूरे इलाके में बचाव कार्य किया जा रहा है. बुधवाार से अब तक कश्मीर में हिमस्खलन की तीन बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं. प्रशासन ने लोगों को घर के भीतर रही रहने की सलाह दी है.

Please follow and like us: