रोहिंग्या मामले में ब्रिटिश मंत्री प्रीति पटेल ने की भारत की आलोचना

दिल्ली.मोदी सरकार ने भारत में रहने वाले रोहिंग्या मुस्लिमों को देश के लिए खतरा बताते हुए उन्हें केंद्र सरकार वापस रोहिंग्या भेजना चाहती है. भारतीय मूल की प्रीति पटेल ब्रिटेन में अंतर्राष्ट्रीय विकास की सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट हैं.

प्रीति पटेल भारत के रुख की आलोचना के साथ भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की और उन्हें एक प्रभावशाली नेता बताया है. बीबीसी के अनुसार प्रीति पटेल ने रोहिंग्या मुसलमानों को अपने देश से वापस भेजने के बारे में कहा कि मेरा ख्याल है कि यह अवास्तविक है. उन्होंने कहा कि वहां की जमीनी हालत देखें, म्यांमार में पांच लाख से अधिक लोगों को सताया जा रहा है. रखाइन राज्य में नरसंहार जारी है.

प्रीति पटेल ने कहा कि यह कहना अनुचित होगा कि पांच लाख लोग सुरक्षा के लिए खतरा हैं. वे अपने घरों को इस लिए छोड़ रहे हैं ताकि वह जिंदा रह सकें।ब्रिटिश प्रधान मंत्री थ्रेसामे की कैबिनेट में सीनियर मंत्री प्रीति पटेल ने रोहिंग्या के मुद्दे पर भारत के रुख की आलोचना की है.

उल्लेखनीय है कि केंद्र में सत्तासीन मोदी सरकार ने भारत में रहने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है और सरकार उन्हें वापस म्यांमार भेजना चाहती है. वहां के लोग किसी वजह से निकल रहे हैं. वह इसलिए नहीं जा रहे हैं कि वह किसी दुसरे देश में पनाह लेना चाहते हैं. वे अपने घर बार को इस लिए छोड़ रहे हैं कि उन्हें सताया जा रहा है.

Please follow and like us:

sadhvi kaa vivadit bayaan

साध्वी का हज यात्रा पर विवादित बयान

चंडीगढ़। शादी समारोह में फायरिंग कर बड़े विवाद में फंसी साध्वी देवा ठाकुर ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद विवादित बयान दिया है। साध्वी ने असदुद्दीन ओवैसी और आजम खान पर अभद्र टिप्पणी की। साध्वी ने आतंकी हाफिज को गाली दी।
साध्वी देवा ठाकुर ने कहा कि जब हज यात्रा निकलेगी, तो शिव भक्त भी जवाब देंगे। फेसबुक पर लाइव चैट के दौरान साध्वी देवा कह रही हैं कि तुम लोग हज के लिए दिल्ली-मुंबई होकर ही जाओगे, उस दिन शिवभक्त, गोभक्त और राष्ट्रभक्त देखना, कैसे बदला लेंगे।
साध्वी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम भी संदेश दिया और कहा है कि निंदा करने से कुछ नहीं होगा, कार्रवाई करिए। साध्वी ने कहा अमरनाथ यात्रा पर हमला हुआ और 7 श्रद्घालु मारे गए, लेकिन ओवैसी और आजम खान का बयान नहीं आया। ये ‘भौंकने’ वाले नेता अब चुप क्यों हैं। हालांकि, आपको बता दें कि ओवैसी ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले की निंदा की थी। साध्वी देवा ठाकुर ने कहा कि पाकिस्तान में छुपा बैठा हाफिज भारत में गंदगी फैला रहा है, उसका अंत जरूरी है।

Please follow and like us:

बनारस में भाजपा कार्यकर्ताओं ने केशव मौर्या मुर्दाबाद के नारे लगाए

वाराणसी.यहां काशी क्षेत्र के 14 जिलों की मीटिंग लेने पहुंचे उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या का कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। बीजेपी के टि‍कट बंटवारे कोलेकर नाराज कार्यकर्ताओं ने मौर्या के सामने ही मुर्दाबाद और वापस
जाओ के नारे तक लगाए। यही नहीं नरेंद्र मोदी के जनसंपर्क ऑफि‍स में भी नारे लगाकर विरोध किया। कार्यकर्ताओं की
इस हरकत पर मौर्या ने मंच से ही कहा, 2017 का चुनाव जीतना है। संयम
नहीं रखेंगे तो 2019 का चुनाव नरेंद्र मोदी को जीता पाना मुश्किल होगा।

मौर्या का मुर्दाबाद से स्वागत 
पूर्वांचल के बीजे पी कार्यकर्ताओं  के साथ मीटिंग लेने जैसे ही  केशव प्रसाद मौर्या और वरिष्‍ठ नेता ओम माथुर पहुंचे वैसे ही कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत मुर्दाबाद के नारों से साथ किया। टिकट बंटवारे को लेकर मुख्य रूप से वाराणसी के कैंट, रोहनिया, जौनपुर के सदर, जौनपुर के ही बदलापुर और मिर्जापुर के मड़िआऊ विधानसभा को लेकर था। विरोध होता देख केशव मौर्या ने बैठक से बाहर भी जाने की गुजारिश कर दी।

Please follow and like us:

कश्मीर हिमस्खलन: गुरेज में 4 और जवानों के शव बरामद, 15 फौजी समेत 21 की मौत

श्रीनगर.कश्मीर के गुरेज सेक्टर में बुधवार को हुई हिमस्खलन की दो घटनाओं में शहीद होने वाले जवानों का आंकड़ा 15 हो गया है. गुरुवार को 4 और शवों को बरामद किया गया है जिसके बाद रेसक्यू ऑपरेशन खत्म हो गया है. शहीद होने वालों में 1 मेजर और 14 जवान शामिल हैं. इसके अलावा 6 नागरिकों की भी राज्य में हिमस्खलन और बर्फीले तूफान के कारण मौत हो गई है. कुल आंकड़ा 21 तक पहुंच गया है. गौरतलब है कि घाटी में बेहद खराब मौसम और बर्फबारी से हालात खराब है. जगह-जगह बर्फीले तूफान या हिमस्खलन का सिल‍सिला जारी है.
बुधवार सीमा के पास गुरेज सेक्टर में हुई हिमस्खलन की घटना में कई जवान दब गए थे. इस घटना में एक जेसीओ सहित छह जवानों को बचा लिया गया है. इसी इलाके में कल हुई हिमस्खलन की एक और घटना में सेना का एक निगरानी वाहन लापता हो गया था.

एक दिन पहले ही गांदरबल जिले के सोनमर्ग इलाके में स्थित सेना के एक शि‍विर में हिमस्खलन से एक मेजर की मौत हो गई थी. दूसरी तरफ, कुपवाड़ा जिले में स्थित तुलेल में बर्फीला तूफान आने से चार लोगों के उसके नीचे दबकर मर गए थे. गौरतलब है कि कश्मीर में भारी बर्फबारी हो रही है और मौसम बेहद खराब हो गया है. मंगलवार शाम को ऐसे बर्फीले तूफान आने की चेतावनी पहले ही जारी की जा चुकी थी. बर्फीले तूफान से प्रभावित पूरे इलाके में बचाव कार्य किया जा रहा है. बुधवाार से अब तक कश्मीर में हिमस्खलन की तीन बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं. प्रशासन ने लोगों को घर के भीतर रही रहने की सलाह दी है.

Please follow and like us:

शाहरुख की ‘रईस’ ने पहले दिन 20.42 करोड़ रुपए कमाए

अर्श खान विसाल

नई दिल्ली: बॉलीवुड के ‘किंग’ शाहरुख खान की फिल्म ‘रईस’ ने पहले ही दिन ना सिर्फ दर्शकों के दिलों पर बल्कि बॉक्स ऑफिस पर भी अपना जादू बिखेर दिया. फिल्म ने पहले दिन 20 करोड़ रुपए की धमाकेदार कमाई की. फिल्म पण्डितों का कहना है कि इसी हफ्ते ‘रईस’ सौ करोड़ी क्लब में शामिल हो जाएगी.गणतंत्र दिवस के मौके पर यह एक नॉन हॉलिडे रिलीज है। पहले दिन की कमाई भी आ गई है और जैसा कि आकलन था ‘रईस’ ने बाजी मारी है। रितिक रोशन की ‘काबिल’ ने पहले दिन 10.43 करोड़ रुपये का कारोबार किया है.
सूत्रों से मिली खबर के अनुसार 26 जनवरी की छुट्टी होने के कारण शाम तक के सभी शो हाउस फूल रहे यानी आंकड़ा 30 से ऊपर होगा । इसके अलावा आगे शनिवार और रविवार भी है। 5 दिन का लंबा वीकएंड है। लिहाजा दोनों फिल्‍मों की कमाई में जबरदस्‍त इज़ाफ़ा होगा । लेकिन इसमें ‘रईस’ ही आगे होगी। फिल्म ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श का मानना है कि शाहरुख खान की रईस गणतंत्र दिवस के मौके पर छुट्टी होने की वजह से जबर्दस्त कमाई करेगी और वीकेंड होने की वजह से फिल्म के कलेक्शन में बढ़त की संभावना है.
‘रईस’ एक एक्‍शन फिल्‍म है, ‘काबिल’ थ्रि‍लर है। ‘रईस’ में शाहरुख के साथ पाकिस्‍तानी एक्‍ट्रेस माहिरा खान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी हैं। ‘काबिल’ में रितिक के साथ यामी गौतम, रोनित रॉय और रोहित रॉय हैं। ‘रईस’ की कहानी गुजरात के एक शराब माफिया की है। ‘काबिल’ में नायक और नायिका दोनों अंधे हैं, एक तरह से बदले की कहानी है।
…लेकिन इसके बावजूद शाहरुख खान की ‘रईस’ और ऋतिक रोशन की ‘काबिल’. एक ही दिन दो बड़ी फिल्में रिलीज होने से दोनों अभिनेता परेशान है कि कहीं एक फिल्म की वजह से दूसरे के कारोबार को नुकसान न पहुंचे. ऐसे में सारा दारोमदार फिल्म की कहानी और उसके कंटेंट पर है. दोनों ही फिल्‍में किसी तरह का रिकॉर्ड बनाने में कामयाब नहीं हो पाएंगी.ऐसे में राकेश रोशन ने रिलीज डेट बदलने को लेकर शाहरुख को पहले ही आगाह किया था कि दोनों फिल्‍में साथ रिलीज हुईं तो कोई भी बंपर कमाई नहीं कर पाएगी।

Please follow and like us:

गणतन्त्र दिवस: बूंदाबांदी से राजपथ हुआ खुशनुमा

परवीन अर्शी

नई दिल्ली। परेड के दौरान हुई बूंदा बांदी ने राजपथ का मौसम सुहाना कर दिया. 68वें गणतंत्र दिवस को राजपथ पर सांस्कृतिक विविधता और समृद्धि का शानदार नजारा देखने को मिला। यहां 17 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों, छह मंत्रालयों की झांकियों ने दर्शकों का जीत लिया। हालांकि जशन में आये लोगों को काफी परेशानी हुई लेकिन इस परेशानी को भी लोगों ने एन्जॉय किया. कार्यक्रम के दौरान हल्की बूंदाबादी ने मौसम को खुशनुमा बनाया। ओडिशा की सांस्कृतिक विरासत दोल यात्रा और अरूणाचल प्रदेश की झांकी में प्रदेश के याक नृत्य का प्रदर्शन किया गया। महाराष्ट्र की झांकी महान स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को समर्पित रही।

 बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ झांकी
बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को समर्पित रही हरियाणा की झांकी को दर्शकों ने सबसे ज़्यादा पसन्द किया. इसके अलावा मणिपुर की झांकी में लाई हराउवा उत्सव को पेश किया गया। वहीं गुजरात की झांकी कच्छ की लोक संस्कृति पर आधरित रही। लक्षद्वीप की झांकी पर्यटन और दिल्ली की झांकी शिक्षा आधारित रही। कर्नाटक की झांकी परंपरागत कला को समर्पित रही। हिमाचल प्रदेश की झांकी में कसीदाकारी, चम्बा शहर को प्रदर्शित किया गया। पश्चिम बंगाल की झांकी की थीम
शरद उत्सव रही। पंजाब की झांकी में जागो आइया नृत्य का चित्रण किया गया । गोवा की झांकी में वहां की संगीत विरासत को दर्शाया गया तो तमिलनाडु की झांकी में वहां के पारंपरिक नृत्य का प्रदर्शन किया गया । त्रिपुरा की झांकी में होजगिरी नृत्य तो जम्मू कश्मीर की झांकी में शीतकालीन खेलों का प्रदर्शन किया गया।
खादी उत्पादों का प्रचार
सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय ने अपनी झांकी में खादी उत्पादों का प्रदर्शन किया । आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय की झांकी में प्रधानमंत्री आवास योजना को दर्शाया गया। वैज्ञानिक एवं औद्योगिकी अनुसंधान परिषद की झांकी में वैश्विक स्थिति को तथा केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की झांकी में वातावरण में स्वच्छता का संदेश दिया गया । कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की झांकी में स्किल इंडिया को पेश किया गया।

Please follow and like us:

कीमा बिरयानी

सामग्री

मटन कीमा – 200 g. m (Mutton keema)
बासमती चावल – 1 1/2 कप (Basmati rice)
अदरक लहसुन का पेस्ट – 2 Table spoon (Ginger garlic paste)
दालचीनी – 1 इन्च का टुकड़ा (Cinnamon)
इलायची – 3 (Cardamom)
लौंग – 3 -4 (Clove)
जीरा – 1 T spoon (Cumin seeds)
प्याज़ – 1 (Onion)
टमाटर – 2 (Tomato)
हरी मिर्च – 2 (Green chilli)
लाल मिर्च पाउडर – 1 T spoon (Red chilli powder)
धनिया पाउडर – 1 T spoon (Coriander powder)
धनिया पत्ता – 2 Table spoon (बारीक़ कटा हुआ) (Coriander leaves)
पुदीना – 1/4 cup (Mint leaves)
गरम मसाला – 1 T spoon (Garam masala powder)
प्याज़ – 1/2 cup (भुना हुआ) (Onion)
नमक – स्वादानुसार (Salt)
तेल – अवयस्कता अनुसार (Oil)

विधि 

  • चावल को धो कर 30 मिनट तक भिगो कर रखे.

  • टमाटर, प्याज़, हरी मिर्च को बारीक़ काट लीजिये.

  • अब कड़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये. अब उसमे जीरा, लौंग, इलायची, दालचीनी, हरी मिर्च, डाल कर भुने. उसके बाद बारीक़ कटा हुआ प्याज़ डाल कर भुने. प्याज़ हल्का ब्राउन होने के बाद अदरक लहसुन पेस्ट डाल कर पकाये. अब कटा हुआ टमाटर डाल कर पकाये. उसके बाद कीमा डाल कर पकाये. कीमा हल्का ब्राउन होने के बाद लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, नमक, गरम मसाला पाउडर डाल कर मिलाये. अब कीमा से तेल अलग होने के बाद धनिया पत्ता, पुदीना पत्ता डालकर मिलाये.

  • अब एक बर्तन में पानी, नमक, 1 चम्मच तेल डाल कर गरम कीजिये. पानी में उबाल आने के बाद भिगो कर रखा हुआ चावल डाल कर 70% तक पका लीजिये.

  • अब कुकर में 1 चम्मच तेल या घी डाले. उसके बाद आधा कीमा एक लेयर तरह डाले. उसके ऊपर आधा चावल डाले. इसी तरह लेयर की तरह चावल और कीमा डाले. अब आकिर में भुआ हुआ प्याज़ डालकर ढककर धीमी आंच पर 10 – 15 मिनट तक पकाये. गरमा गरम कीमा बिरयानी तैयार.

Please follow and like us: